Meri Kahaani Meri Jubani Krishna 2017 by Deep Trivedi

Meri Kahaani Meri Jubani Krishna      2017   by Deep Trivedi
Product Code: PRA-H
Availability: In Stock
Price: Rs399.00 Rs279.00
Qty:     - OR -   Add to Wish List
Add to Compare

मेरी कहानी, मेरी जुबानी – कृष्ण

कृष्ण, एक ऐसा व्यक्तित्व है, जिसके बारे में हरकोई जानना और समझना चाहता है। परंतु दुर्भाग्य से यही एक जीवन है जो पूरा उपलब्ध नहीं है। और यही कारण है कि कृष्ण के बाबत उठ रहे तमाम सवाल हमेशा से निरुत्तरित रहे हैं।

  • कृष्ण कंस की जेल से बाहर कैसे आए?
  • कृष्ण-राधा का प्रेम क्या था?
  • कृष्ण-राधा बिछड़े क्यों?
  • कृष्ण की रासलीलाएं क्या हैं?
  • कृष्ण ने कंस का वध क्यों किया?
  • कृष्ण-रुक्मिणी का प्रेम क्या था?
  • कृष्ण ने इतने वध क्यों किए?
  • कृष्ण ने ग्वाले से द्वारकाधीश तक का सफर कैसे तय किया?
  • कृष्ण ने कितने विवाह किए?
  • कृष्ण की कितनी संतानें थी?
  • यह यादवस्थली क्या है?

ऐसे हजारों सवाल कृष्ण के जीवन के बारे में उठते ही रहते हैं। परंतु इनके जवाब नहीं मिल पाते। क्योंकि कोई एक ऐसा ग्रंथ नहीं जो कृष्ण के जीवन बाबत लिखा गया हो, या कहें कि जिसमें कृष्ण का सम्पूर्ण जीवन उपलब्ध हो। सो, इस किताब को कृष्ण के बारे में अबतक लिखे गए सभी शास्त्रों को टटोलकर लिखा गया है। उन शास्त्रों में प्रमुख हैं:

1. महाभारत 2. शतपथ ब्राह्मण 3. ऐतरेय आरण्यक 4. निरुक्त 5. अष्टाध्यायी 6. गर्ग संहिता 7. जातक कथा 8. अर्थशास्त्र 9. इंडिका 10. हरिवंश पुराण 11. विष्णु पुराण 12. महाभाष्य 13. पद्म पुराण 14. मार्कंडेय पुराण 15. कूर्म पुराण आदि।

अगर एक वाक्य में इस किताब के बारे में कहना हो तो कहा जा सकता है कि यह ‘‘कान्हा के जय श्रीकृष्ण’’ बनने की सम्पूर्ण दास्तान है, जिसके जरिए कृष्ण के जीवन और उनकी सायकोलोजी को पूरी तरह से समझा जा सकता है। कुल-मिलाकर इस किताब में कृष्ण का सम्पूर्ण जीवन एक अति रोचक कहानी के रूप में पेश किया गया है। यह किताब अंग्रेजी, हिन्दी, मराठी और गुजराती में उपलब्ध है।

Product Info
Author(s) DEEP TRIWEDI
ISBN 978-9384850043
Pages 352 PAGES
Publication Year 2017

Write a review

Your Name:


Your Review: Note: HTML is not translated!

Rating: Bad           Good

Enter the code in the box below:



© 2014-2018